You are here
Home > HEALTHCARE > सौंफ के लाभ

सौंफ के लाभ

Benefits of fennel | Saunf ke labh

सौंफ एक सुगन्धित मसाला है। प्रायः इसका प्रयोग खाने के बाद, मुख को ताज़ा करने

और भोजन को पचाने हेतु किया जाता है। इसके अलावा, सौंफ का प्रयोग विभिन्न प्रकार के व्यंजन (अचार, सब्जी, शर्बत) बनाने में किया जाता है। सौंफ में कई स्वास्थ्यवर्धक विटामिनों (A,C,riboflavin, B12), मिनरल्स तथा खनिजों (iron, zink, calcium, copper, potassium) की उचित मात्रा का समावेश पाया जाता है। जो हमारे शरीर को स्वस्थ बनाए रखने में सहायक होते हैं। सौंफ की ठंडी तासीर तथा इसमें विद्यमान विभिन्न पोषक तत्वों का समावेश ही, इसे औषधीय गुण प्रदान करता है। जिसके कारण, सौंफ का प्रयोग कर, कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है।

कुछ निम्नलिखित स्वास्थ्य लाभ इस प्रकार हैं:

  • बच्चों को दस्त होने पर, 2 टीस्पून सौंफ को, 1 गिलास गुनगुने पानी में भिगोकर 10-15 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर इसे छानकर बच्चे को  पिलायें। इसका सेवन करने मात्र से दस्त से राहत मिलती है।
  • प्रतिदिन नियमित रूप से, भोजन के बाद ,1 टीस्पून सौंफ का सेवन करने से, हमारे शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रित रहता है। जिससे ह्रदय संबंधी समस्याओं/ रोगों से बचा जा सकता है।
  • मासिक धर्म अनियमित होने पर,प्रतिदिन सौंफ और गुड़ मिलाकर सेवन करना लाभदायक होता है।
  • हिचकी आने की स्थिति में, सौंफ और चीनी को बराबर मात्रा में मिलाकर सेवन करने से हिचकी से राहत मिलती है।
  • मूत्र/ पेशाब में जलन होने पर, 1 कप पानी में, 2 टीस्पून सौंफ भिगोकर पीस लें व स्वादानुसार मिश्री मिलाकर  सेवन करने से लाभ मिलता है।
  • सौंफ, बादाम तथा मिश्री को समान मात्रा में मिलाकर बारीक चूर्ण बना लें व इसका प्रतिदिन रात को सोने से पहले गर्म दूध के साथ सेवन करें। इससे स्मरणशक्ति बढ़ती है।
  • पेट दर्द में, भूनी हुई सौंफ का सेवन करना अत्यंत लाभदायक होता है।
  • रात्रि के भोजन के बाद, सौंफ का सेवन गुनगुने पानी के साथ करने मात्र से कब्ज़ से राहत मिलती है।
  • प्रतिदिन नियमित रूप से, रात में, सोने से पहले, सौंफ का सेवन दूध या पानी के साथ करने मात्र से, नेत्र ज्योति (आँखों की रोशनी) बढ़ती है।
  • प्रतिदिन दोपहर/रात के भोजन के बाद 1-1 टीस्पून सौंफ चबाकर खाने से दमा रोग से राहत मिलने के साथ- साथ खून भी साफ होता है।
  • लू (हीट स्ट्रोक) लगने पर, 8-9 घंटे के लिए 1 गिलास पानी में, 1 टेबलस्पून सौंफ डालकर भिगो दें व सौंफ छान-कर 1 चुटकी नमक मिलाकर इस पानी का सेवन करना लाभप्रद होता है।
  • बुखार होने पर, सौंफ का सेवन करने मात्र से, शरीर तेजी से पसीना छोड़ने लगता है। जिससे बुखार तेजी से उतर जाता है।
  • गले में खराश या सर्दी-खाँसी होने पर, सौंफ को मुंह में रख-कर धीरे-धीरे चूसते रहने से लाभ मिलता है।

44 total views, 1 views today

Top